क्या आप समझते हैं कि जनता को सरकार को संयुक्त हस्ताक्षर अभियान के जरिए,आदेश देने का अधिकार है?

Tuesday, March 1, 2011

आज के हालात तथा समाज निर्माण में ब्लोगिंग और उसकी रचनात्मकता का योगदान....



आज जबकि शर्मनाक स्तर का भ्रष्टाचार जीरो रिस्क और सबसे ज्यादा फायदे का व्यवसाय बन चुका है और सामाजिक असमानता की भयावहता इंसानियत को ही ख़त्म करने पर तुली हुयी है | ऐसे में इसके निदान के लिए सोचना और सार्थक प्रयास करना हर किसी के लिए अतिआवश्यक हो गया है |


अब सवाल उठता है की इस स्थिति के कारण क्या हैं और समाधान क्या....? हमसब जानते हैं की किसी भी व्यवस्था के जिन्दा रहने के लिए सत्य,न्याय और ईमानदारी आधारित निगरानी व कार्यवाही की व्यवस्था बहुत जरूरी होती  है | हमारे देश में न्यायपालिका,कार्यपालिका तथा व्यवस्थापिका की निगरानी के लिए चौथा खम्भा के नाम से मिडिया होती थी ...होती थी मैं इसलिए कह रहा हूँ की अब इस देश में मिडिया के नाम पर सिर्फ प्रायोजित समाचार ही रह गए हैं ,किसी भी घटना का मिडिया द्वारा निरंतर विश्लेषण कर असल गुनेहगारों को सजा दिलवाने वाली पत्रकारिता का अंत हो चुका है और जन-जन की आवाज वाली मिडिया भ्रष्ट मंत्रियों और उनके धनपशु उद्योगपतियों की दुकान बनकर रह गयी है ,जिसकी वजह से देश में शर्मनाक स्तर के भ्रष्टाचार की वजह से भयंकर अराजकता और कुव्यवस्था का आलम है तथा व्यवस्था अब सामाजिक सरोकार से व आम लोगों की समस्याओं को दूर करने के दायित्व से दूर हो चुकी है |



आज सरकारी कार्यालयों में रिश्वत नहीं देने वालों को खुले आम पीटा जाता है इस धमकी के बाद की जहाँ जाना है जाओं कुछ नहीं होगा ....सबको पता है की देश के प्रधानमंत्री को या राष्ट्रपति को भी आम लोगों द्वारा किये गए लिखित शिकायत या इ.मेल पर कोई भी न्यायोचित व तर्कसंगत कार्यवाही नहीं होती है | इसलिए लोकतंत्र लूटेरों और भ्रष्टाचारियों का तंत्र बनकर रह गया है ,आज प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के पदों पर बैठे लोगो के ऊपर भी कई गंभीर आरोप हैं ,ज्यादातर उच्च संवेधानिक पदों पर बैठे लोग शर्मनाक स्तर के भ्रष्टाचार में लिप्त हैं |



गंभीर और शर्मनाक अवस्था है इसलिए अब इस देश की व्यवस्था की निगरानी जन पत्रकारिता के जरिये करने तथा देश व समाज के गद्दारों को समाज में बेनकाब करने की जरूरत है | इस काम में ब्लोगिंग सबसे धारदार हथियार है | इसे  ब्लोगिंग का असर ही कहेंगे की 2G के स्पेक्ट्रम घोटाले में इतने सबूत ब्लॉग पे उपलब्ध करा दिए गए की सरकार को ऐ राजा के खिलाफ कार्यवाही करने को मजबूर होना परा | लेकिन ये तो एक नमूना है ब्लोगिंग का सही उपयोग कर हर गांव के पंचायत के प्रशासन से लेकर केंद्र सरकार के प्रशासन तक को आम लोगों द्वारा नियंत्रित कर देश के असल विकास को आम लोगों का विकास बनाया जा सकता है | हालाँकि सरकार द्वारा आमलोगों को जानकारी पहुँचाने के लिए हर जिले में वेबसाइट बनाया गया है लेकिन इन वेबसाइटों पर अरबों रुपया हर वर्ष खर्च होने के बाबजूद कोई भी सूचना जो सरकार में पारदर्शिता को बढ़ाये तथा लोगों द्वारा सामाजिक जाँच से उसकी पुष्टि हो सके के मामले में जीरो ही है | जिला प्रशासन लोगों के इ.मेल किये गए शिकायत का जवाब तक नहीं देता है | वहीँ दूसरी और कई ऐसे ब्लोगर है जिनको कोई भी सरकारी सहायता नहीं मिलने के बाबजूद अपने ब्लॉग के जरिये सरकार के विभिन्न योजनाओं की निगरानी कर उसमे हुए किसी भी प्रकार के  घोटालों के जानकारी को लोगों तक पहुंचा रहें हैं और जन आन्दोलन के जरिये निगरानी और कार्यवाही का सरकार पर दवाब बना रहें  हैं  | आज ब्लॉग और FECEBOOK के माध्यम से ही हमलोगों ने INDIA AGAINST CORRUPTION के मुहीम को जन-जन के लिए भ्रष्टाचार के खिलाफ जनयुद्ध में परिवर्तित कर सकें हैं | कई ऐसी संस्था और समूह हैं जिनका भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई पूरे देश में इ.पेपर,ब्लॉग तथा वेब की जरिये ही प्रभावी ढंग से पहुंचा है जैसे http://hprdindia.org ,
http://iri.org.in ,http://www.bhadas4media.com/, http://sahitya.parikalpnaa.com/2011/02/blog-post_28.html?spref=fb| ,इत्यादि


इतना सब होने के बाबजूद भी ब्लोगिंग को सामाजिक सरोकार से जोड़कर देश की व्यवस्था की निगरानी व कार्यवाही के लिए एक कारगर हथियार के रूप में प्रयोग  करने की दिशा में इसे शुरुआत ही कहा जा सकता है |



अभी बहुत कुछ किया जाना बांकी है और बहुत कुछ किया जा सकता है तथा इसके लिए हर व्यक्ति को ब्लोगिंग का उपयोग कर जन पत्रकारिता का प्रयोग करना होगा | इसके लिए जरूरी नहीं की आप लेपटोप या इंटरनेट के कनेक्सन के खर्चे को उठाये आप इसके लिए अपने नजदीकी साइबर केफे का उपयोग कर देश के किसी भी ब्लोगर या ब्लॉग मिडिया समूह से जुड़ सकते हैं | अभी हमने एक ब्लॉग सिर्फ CORRUPTION FIGHTERS के लिए ही बनाया है अगर आप अपने क्षेत्र में भ्रष्टाचार व कुव्यवस्था के खिलाफ ईमानदारी से सोच या लड़ रहें तो इस ब्लॉग के सदस्य के रूप में आपका स्वागत है | आप इस ब्लॉग का सदस्य बनने के लिए हमें honestyprojectdemocracy@gmail.com पर इ.मेल कर सकते हैं |  हम आपसे वादा करते हैं की हम जनहित और देशहित में भ्रष्टाचार तथा कुव्यवस्था की लड़ाई में आपका हर संभव सहायता करने का प्रयास करेंगे | आइये ब्लॉग मिडिया व उसकी रचनाधर्मिता  को इस देश की व्यवस्था के निगरानी का सशक्त माध्यम बनायें | मुझे आपके साथ चलकर गर्व होगा | हमसब ब्लॉग के जरिये जिलापदाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से लेकर राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री जैसे पदों को जनहित में सत्य,न्याय,ईमानदारी तथा देशभक्ति की रक्षा के लिए मिले स्वयं विवेक  तथा विशेषाधिकार की भी निगरानी कर सकते हैं जिससे इनका दुरूपयोग कोई इन पदों पर बैठकर अपने निहित स्वार्थ तथा देश व समाज के साथ गद्दारी के लिए ना कर सके | ऐसा करना हमसबका इंसान के नाते भी एक कर्तव्य है और इसके लिए योग्यता चाहिए बस आपकी ईमानदारी और सत्य की रक्षा के लिए आपकी निडरता |







10 comments:

  1. सारगर्भित पोस्ट सोचने को मजबूर करती हम क्या करते है कहाँ है भ्रष्टाचार को आजकल लोगों ने अपने जीवन का एक हिस्सा मान लिया है एक शेर याद आ रहा है
    जब सरे आम लुट रहे हों काफ़िले तो सोचने की बारी है |
    यह राहजनों का काम है या रहबरों की मक्कारी है |

    ReplyDelete
  2. इस के लिये हम सब को जागना होगा, बहुत सुंदर लेख लिखा , आंखे खोलने वाला, धन्यवाद

    ReplyDelete
  3. श्रीमान जी, कृपया CORRUPTION FIGHTERS का सदस्य बनने की प्रक्रिया सरल बनाये. काफी कोशिश के बाद भी इसका मैं सदस्य बनने में असमर्थ रहा हूँ.

    अगर हमें कामयाबी(अपने अधिकार) नहीं मिली तब न्याय अधिकारीयों के हलक से निकाल/छिन कर लें आयेंगे. हम सब मिलकर पत्रकारिता व ब्लोगिंग की दुनियां में एक नया इतिहास रचकर रहेंगे. फिर लोगों को दिखा देंगे पत्रकारिता आज भी एक जन आन्दोलन का रूप ले सकती हैं अगर ईमानदारी से पत्रकारिता की जाए.मात्र कुछ भौतिक वस्तु की चाह में कुछ पत्रकार अपने ईमान व ज़मीर गिरवी रखने में कोई संकोच नहीं करते हैं. इन्ही पत्रकारों की वजय से अनेकों घोटाले फाइलों में दबकर रह जाते हैं. मैं ऐसे कई स्थानीय समाचार पत्रों को जानता हूँ. जो पैसे लेकर सिर्फ परिचय-पत्र बनाकर रोटी चला रहे हैं. पैसों की हवस में अपराधियों को परिचय-पत्र जारी करने में संकोच नहीं करते हैं. एक जीव,जानवर(कुत्ता) भी अपने लिए जी लेता हैं. हम तो फिर इंसान है. एक नेक दिल इंसान का पहला फर्ज है कि-अपना जीवन को देश के प्रति समर्पित करें

    ReplyDelete
  4. रमेश जी
    corruption fighter का सदस्य बनने के लिए आपको सिर्फ एक इ.मेल करना है मुझे ,उसके बाद आपको जवाबी इ.मेल जायेगा और आप इसके सदस्य बन जायेंगे....आपने कैसे कोशिस की मैं समझ नहीं पाया ! आपका कोई इ.मेल मुझे मिला नहीं...

    ReplyDelete
  5. मैंने followers के माध्यम से कोशिश की थी. जैसे आपकी उपरोक्त ब्लॉग/वेबसाइट का सदस्य हूँ. आज आप ईमेल भेज रहा हूँ.

    ReplyDelete
  6. शकुन्तला प्रेस कार्यालय के बाहर लगा एक फ्लेक्स बोर्ड देखे.......http://shakuntalapress.blogspot.com/2011/03/blog-post_14.html क्यों मैं "सिरफिरा" था, "सिरफिरा" हूँ और "सिरफिरा" रहूँगा! देखे.......... http://sach-ka-saamana.blogspot.com/2011/03/blog-post_14.html

    आप सभी पाठकों और दोस्तों से हमारी विनम्र अनुरोध के साथ ही इच्छा हैं कि-अगर आपको समय मिले तो कृपया करके मेरे (http://sirfiraa.blogspot.com , http://rksirfiraa.blogspot.com , http://shakuntalapress.blogspot.com , http://mubarakbad.blogspot.com , http://aapkomubarakho.blogspot.com , http://aap-ki-shayari.blogspot.com , http://sachchadost.blogspot.com, http://sach-ka-saamana.blogspot.com , http://corruption-fighters.blogspot.com ) ब्लोगों का भी अवलोकन करें और अपने बहूमूल्य सुझाव व शिकायतें अवश्य भेजकर मेरा मार्गदर्शन करें. आप हमारी या हमारे ब्लोगों की आलोचनात्मक टिप्पणी करके हमारा मार्गदर्शन करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे.हम आपकी आलोचनात्मक टिप्पणी का दिल की गहराईयों से स्वागत करने के साथ ही प्रकाशित करने का आपसे वादा करते हैं # निष्पक्ष, निडर, अपराध विरोधी व आजाद विचारधारा वाला प्रकाशक, मुद्रक, संपादक, स्वतंत्र पत्रकार, कवि व लेखक रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" फ़ोन:9868262751, 9910350461

    ReplyDelete
  7. दोस्तों! अच्छा मत मानो कल होली है.आप सभी पाठकों/ब्लागरों को रंगों की फुहार, रंगों का त्यौहार ! भाईचारे का प्रतीक होली की शकुन्तला प्रेस ऑफ़ इंडिया प्रकाशन परिवार की ओर से हार्दिक शुभमानाओं के साथ ही बहुत-बहुत बधाई!

    आप सभी पाठकों और दोस्तों से हमारी विनम्र अनुरोध के साथ ही इच्छा हैं कि-अगर आपको समय मिले तो कृपया करके मेरे (http://sirfiraa.blogspot.com , http://rksirfiraa.blogspot.com , http://shakuntalapress.blogspot.com , http://mubarakbad.blogspot.com , http://aapkomubarakho.blogspot.com , http://aap-ki-shayari.blogspot.com , http://sachchadost.blogspot.com, http://sach-ka-saamana.blogspot.com , http://corruption-fighters.blogspot.com ) ब्लोगों का भी अवलोकन करें और अपने बहूमूल्य सुझाव व शिकायतें अवश्य भेजकर मेरा मार्गदर्शन करें. आप हमारी या हमारे ब्लोगों की आलोचनात्मक टिप्पणी करके हमारा मार्गदर्शन करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे.हम आपकी आलोचनात्मक टिप्पणी का दिल की गहराईयों से स्वागत करने के साथ ही प्रकाशित करने का आपसे वादा करते हैं

    ReplyDelete
  8. Hi, very good blog. I am an educator and I am constantly gathering information, I invite you to visit my blog about philosophy, literature and film. If you want to know, the address is:

    http://alvarogomezcastro.over-blog.es

    Greetings from Santa Marta, Colombia.

    ReplyDelete